भारतीय सेना की गोपनीय जानकारी देने वाला फौजी हुआ गिरफ्तार, पाकिस्तानी एजेंसी ISI को देता था जानकारी ?

राजस्थान सीआईडी इंटेलिजेंस ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को भारतीय सेना गोपनीय सूचना देने वाला फौजी हिरासत में लिया है। गिरफ्तार फौजी शांतिमोय राणा बंगाल का रहने वाला है। आरोपी शांतिमोय राणा जयपुर में आर्मी एरिया में पोस्टेड है। बंगाल का निवासी आरोपी हनी ट्रैप का शिकार हुआ है।

बता दें कि आरोपी सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तानी एजेंसी आईएसआई से संपर्क में था। आरोपी सिपाही से पूछताछ जारी है।
बता दें कि आरोपी ने पाकिस्तानी महिला एजेंट के हनीट्रैप में फंसकर कई अहम सूचनाएं पाकिस्तानी एजेंसी से साझा की है। माना जा रहा है कि पूछताछ में आरोपी के साथियों या इससे जुड़े लोगों का पता चल सकता है।

डीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने बताया कि पाकिस्तानी गुप्तचर एजेंसियों द्वारा राजस्थान में की जा रही जासूसी गतिविधियों पर ऑपरेशन सरहद के तहत सीआईडी इंटेलिजेंस द्वारा लगातार निगरानी रखी जाती है। इसी निगरानी के दौरान जानकारी में आया कि सेना का जवान शांतिमोय राणा सोशल मीडिया के माध्यम से पाकिस्तानी खुफिया हैंडलर्स के निरंतर संपर्क में है।

पूछताछ में आरोपी जवान ने बताया कि वह साल 2018 से भारतीय सेना में है। काफी समय से व्हाट्सएप चैट तथा व्हाट्सएप ऑडियो और वीडियो कॉलिंग के द्वारा महिला पार्क एजेंट के संपर्क में हैं।

आपको बता दें कि बीती तीन जुलाई को भी राजस्थान सीआईडी इंटेलिजेंस पुलिस ने आईएसआई को सूचनाएं देने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया था।

यह गिरफ्तारी ऑपरेशन सरहद के चलते की गई थी। छानबीन में यह भी सामने आया था कि आरोपियों में से एक को पाकिस्तानी महिला एजेंट के हनीट्रैप में फंसाकर काम करने के लिए तैयार किया गया था।

Leave a Comment