अभिनेता अमरीश पूरी को हुआ था पहली नज़र में प्यार, जानिए इनकी प्रेम कहानी

0
3614

बॉलीवुड में मोगैंबो के नाम से फेमस एक्टर ‘अमरीश पुरी’ बेशक सिल्‍वर स्‍क्रीन पर हमेशा विलेन के तौर पर नजर आए हों, मगर असल जीवन में वह बहुत ही साधारण और सज्जन व्यक्ति थे. यह बात इसी से पता चल जाती है कि अमरीश पुरी बॉलीवुड में जहां शराब के नशे में धुत नजर आते थे और अधिकतर उन्हें महिलाओं से छेड़खानी करते हुए फिल्मों में दिखाया जाता था, वहीं असल जीवन में वह अपने निभाए किरदारों के विपरीत थे और केवल अपनी पत्‍नी से ही प्रेम करते थे.

आपको यह जानकर बहुत हैरानी होगी कि बॉलीवुड के फेमस विलेन अमरीश पुरी ने लव मैरिज की थी और उनकी लव स्टोरी बहुत ही फिल्‍मी थी. इस बारे में एक लीडिंग मीडिया हाउस को दिए इंटरव्यू में अमरीश पुरी के पोते वर्धान पुरी ने काफी कुछ बताया. तो चलिए जानते हैं अमरीश पुरी की असल लव स्टोरी के बारे में.

आपने  लव एट फर्स्ट साइट के बारे में तो सुना ही होगा. अमरीश पुरी को अपनी वाइफ उर्मिला दिवेकर से पहली नजर आ प्‍यार हुआ था. अमरीश हमेशा से एक्टर बनना चाहते थे, मगर उन्हें एक्टिंग और थिएटर दोनों का ही तजुरबा नहीं था. इसलिए एक बीमा कंपनी में उन्होंने क्‍लर्क की जॉब कर ली. इस ऑफिस में उनकी मुलाकात उर्मिला जी से हुई. सीधी-साधी और सादगी से भरी उर्मिला दिवेकर को देखते ही अमरीश अपना दिल दे बैठे थे.

अमरीश पुरी की भी पर्सनालिटी किसी एक्टर जैसी थी, उर्मिला जी को भी अमरीश पुरी से मिलकर काफी अच्छा लगा और दोनों को ही एक दूसरे का साथ पसंद आने लगा. मगर तब जमाना अलग था. उस समय लव मैरिज का चलन कम होने के कारण अमरीश और उर्मिला दोनों के ही घरवालों ने इस रिश्ते पर एतराज जताया. जाहिर है, अमरीश और उर्मिला दोनों ही अलग-अलग प्रांतों के थे. जहां अमरीश पंजाबी थे, वहीं उर्मिला साउथ इंडियन थीं. मगर दोनों के प्यार की मजबूती के आगे परिवार वालों को झुकना पड़ा और फिर दोनों की धूम-धाम से शादी हो गई. शादी के बाद भी अमरीश और उर्मिला बहुत समय तक एक साथ काम करते रहे.

अमरीश हमेशा से एक्टर बनना चाहते थे. वह फिल्म में विलेन बनेंगे यह तो कभी उन्होंने सोचा भी नहीं था. वर्धान अपने इंटरव्यू में बताते हैं, ‘दादा जी हमेशा हीरो बनना चाहते थे, मगर उन्हें हमेशा ही निगेटिव रोल ही मिले. अपने एक्टिंग करियर को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें जॉब भी छोड़नी पड़ी थी. शुरुआत के दिन काफी संघर्ष भरे थे. मगर दादी ने सब कुछ संभाल लिया. दादा जी को 41 की उम्र में सफलता मिली और इंडस्ट्री में पहचान भी. मगर विलेन का ठप्पा उन पर से कभी हटा नहीं. लेकिन मेरे दादा जी को इससे परेशानी नहीं थी, वह हमेशा कहते थे, ‘मैं चाहे फिल्मों में विलेन ही रहूं, मगर मेरे घर पर मेरी बीवी हीरो है.’ दादा जी और दादी जी के बीच का प्यार इतना गहरा था कि कुछ भी हो जाए सेट पर भी दादा जी दादी के हाथ का बना खाना ही खाते थे और उन्हें वही पसंद था.’

अमरीश जी ने कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है. इनमें से दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, ‘करण अर्जुन’ और ‘नायक : द रियल हीरो’ ‘मिस्टर इंडिया’ जैसी फिल्मों में उनके द्वारा निभाई गई भूमिकाओं को हमेशा याद किया जाएगा. आपको बता दें कि अमरीश जी ने 12 जनवरी 2005 को 72 वर्ष आयु में दुनिया को अलविदा कह दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here