लंबे समय के बाद आम लोगों को मिली राहत, कम हुए दाम खाने के तेल से लेकर इन सब चीजों के

    0
    300

    लंबे समय के बाद आम लोगों को राहत देने वाली खबरें आने लगी हैं। लंबी वेटिंग के बीच कच्चे माल के दामों में काफी कमी आई है। वहीं, खाद्य तेलों के दाम रिकॉर्ड घट गए हैं। बंगाल से बालू आना शुरू हो गया है। बीते 3 वर्षों में देश के लोगों को लॉकडाउन, कच्चे माल की कीमतों में इजाफा, सप्लाई चेन की दिक्कत, कई जरूरी पदार्थों की किल्लत, महंगे ईंधन जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ा है।

    लेकिन, बीते एक माह में स्टील, एल्युमिनियम, कॉपर, सीमेंट व प्लास्टिक की कीमतों में 10-20% की कमी आई है। खाद्य तेल की कीमतें 45 रुपए लीटर तक सस्ती हो गई है। बालू की कमी से राज्य में लगभग सभी कंस्ट्रक्शन कार्य रुके हुए हैं। अब बंगाल से बालू मंगाया जाने लगा है तो लोगों को राहत मिली है। जेसिया के अध्यक्ष पी मैथ्यू ने कहा कि अब मार्केट का माहौल अच्छा हो रहा है। कच्चे पदार्थ के दाम कम हो रहे हैं। आने वाले समय में लोगों को काफी राहत मिलने वाली।

    पाम ऑयल 3 दिन में 15 रुपए लीटर, सरसों और रिफाइंड ऑयल 5 रुपए लीटर तक सस्ता हुआ है। एक माह में सभी खाद्य तेल 35 से 40 रुपए प्रति लीटर तक सस्ते हुए हैं। सरसों तेल 150 से 165 रुपए लीटर तक, रिफाइंड तेल 150 से 160 रुपए लीटर तक मिल रहे हैं। एक महीना पहले रिफाइन व सरसों तेल 200 रुपए लीटर तक मिल रहे थे।

    2018 से नदियों से बंदोबस्ती नहीं होने से किल्लत है। पूरे राज्य में लगभग 30 हजार करोड़ रुपए के छोटे-बड़े प्रोजेक्ट प्रभावित हैं। 5 लाख मजदूर बेरोजगार हो गए हंै। रांची में करीब 500 प्रोजेक्ट प्रभावित हैं। बरसात के कारण बालू घाटों से उठाव 15 अक्टूबर तक के लिए बंद हैं। ऐसे में चैंबर और बालू-ट्रक एसोसिएशन की पहल से बंगाल से बालू मंगाया जा रहा है।

    सीमेंट में 35, लोहे में 15 और प्लास्टिक में 13 रुपए तक की गिरावट- लोहे के दाम 20% तो सीमेंट के दाम 10% तक सस्ते हुए हैं। आने वाले समय में और दाम गिरने की गुंजाइश है। एक माह पहले 380 रुपए बोरी बिकने वाला सीमेंट 345 रुपए बोरी तक बिक रहा है। 80 रुपए प्रति किलो बिकने वाला लोहा आज 65 रुपए किलो बिक रहा है। प्लास्टिक का दाम भी 140 रुपए प्रति किलो से घटकर 127 रुपए प्रति किलाे हो गया है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here