दर्जी कन्हैयालाल के हत्यारों का पाकिस्तान के आतंकवादियो से जुड़े हो सकते है कनेक्शन ?

राजस्थान पुलिस द्वारा उदयपुर के दर्जी कन्हैयालाल के हत्यारों के पाकिस्तान स्थित आतंकवादी समूह से संबंधों का खुलासा करने के कुछ दिनों बाद, पुलिस ने आज मामले में एक और सनसनीखेज खुलासा किया। हत्यारों में से एक, रियाज़ अत्तारी ने अपनी मोटरसाइकिल के लिए 2611 नंबर की प्लेट प्राप्त करने के लिए अतिरिक्त पैसे दिए। पुलिस इसे उस तारीख से जोड़ रही है जब मुंबई में सबसे भयानक आतंकवादी हमला हुआ था।

ये वही गाड़ी है जो दोनों हत्यारे गोस मोहम्मद और रियाज अत्तारी दर्जी कन्हैयालाल का गला रेत कर फरार हो गए थे। बता दें कि पंजीकरण संख्या RJ 27 AS 2611 वाली यह बाइक अब उदयपुर के धन मंडी पुलिस स्टेशन में पड़ी है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि रियाज ने जानबूझकर 2611 नंबर मांगा और इस नंबर प्लेट के लिए ₹5,000 अतिरिक्त दिए। यह सुचना इस अपराध और इसकी योजना में महत्वपूर्ण सुराग प्रदान कर सकती है।

पुलिस का मानना है कि मोटरसाइकिल के इस तरह के नंबर लेना रियाज के दिमाग में क्या चल रहा था, इसका एक सुराग भी हो सकता है। पुलिस सूत्रों का कहना कि रियाज के पासपोर्ट से पता चला है कि वह 2014 में नेपाल गया था। उसके मोबाइल डेटा से यह भी पता चलता है कि वह पाकिस्तान भी गया था।

बता दें कि दिनदहाड़े कन्हैया लाल की हत्या करने के बाद इस बाइक पर सवार होकर दोनों हत्यारे फरार हो गए थे। उदयपुर से करीब 45 किलोमीटर दूर राजसमंद जिले में पुलिस बैरिकेड्स पर पकड़े जाने पर दोनों युवक इस बाइक पर सवार होकर भागने की कोशिश कर रहे थे।

क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के रिकॉर्ड बताते हैं कि रियाज अत्तारी ने 2013 में एचडीएफसी से कर्ज लेकर बाइक खरीदी थी। वाहन का बीमा मार्च 2014 में समाप्त हो गया था।

Leave a Comment