अलोक दीक्षित हुए थे लक्ष्मी की मासूमियत पर फ़िदा, लेकिन बेटी पैदा होने के बाद क्यों दे दिया तलाक, जानिए इसके पीछे की वजह

    0
    1279

    पिछले साल रिलीज़ हुई छपाक फिल्म को लोगो ने खूब प्यार दिया था. यह फिल्म एसिड अटैक सरवाइवर लक्ष्मी अग्रवाल पर आधारित है. इस फिल्म की कहे तो यह 1 जुलाई, 1990 को दिल्ली के मिडिल क्लास परिवार में जन्मी लक्ष्मी अग्रवाल के जीवन पर आधारित है जिन्हें बचपन से ही सिंगिंग का शौक था. लक्ष्मी अग्रवाल बड़ी होकर एक सिंगर बनना चाहती थी. लेकिन वक्त ने उन्हें मांस 15 की उम्र में एक ऐसे भयानक हादसे से रूबरू कराया जिसे सुनकर भी किसी की रूह कांप जाए.

    दरअसल यह बात तब की है जब लक्ष्मी की उम्र महज 15 साल हुआ करती थी और उन्होंने एक 32 वर्षीय सरफिरे आशिक नईम खान को शादी के लिए मना कर दिया था. लेकिन असल घटना तब घटी जब नईम ने इस पर गुस्से में आकर लक्ष्मी पर एसिड फेंक दिया. एक हादसे ने लक्ष्मी अग्रवाल की पूरी जिंदगी बदल दी लेकिन इसके बाद भी लक्ष्मी अग्रवाल ने हार नहीं मानी. सुप्रीम कोर्ट में एसिड बैन कराने के लिए इन्होने अर्जी दी जिसके बाद साल 2006 में पूरे देश में स्टॉप एसिड अटैक अभियान की शुरुआत हो गयी.

    इस अभियान के दौरान तमाम एसिड अटैक सरवाइवर्स के साथ-साथ अन्य लोगों ने दी उनका भरपूर साथ दिया. साथ ही ऐसे एसिड अटैक पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए उन्होंने सरकार से पुनर्वास की भी मांग की जिसके लिए उन्हें भूख हड़ताल का भी सहारा लेना पड़ा. इसी आंदोलन के दौरान लक्ष्मी की मुलाकात आलोक दिक्षित से हुई जिन्होंने इस दौरान उनकी काफी मदद की और इस अभियान को सफल बनाया.

    लक्ष्मी के शुरू किए गए ऐसे अभियान के तहत देश में सरेआम होने वाली एसिड की बिक्री पर रोक लगी और भारत सरकार द्वारा पुरस्कारों से भी सम्मानित किया गया. वहीँ इसके अतिरिक्त लक्ष्मी को साल 2014 में अंतर्राष्ट्रीय महिला सम्मान पुरस्कार, अमेरिका की फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा द्वारा दिया गया.

    इसी स्टॉप एसिड अटैक अभियान के दौरान आलोक दिक्षित और लक्ष्मी अग्रवाल के बीच नज़दीकियां बढ़ गई. जिसके बाद यह दोनों एक दूसरे से प्यार करने लगे. एक दूसरे के साथ यह दोनों काफी वक्त लिविंग में भी रहे थे. हालांकि इन दोनों की शादी नहीं हो सकी. बता दें लक्ष्मी अग्रवाल इन दिनों बेटी की मां भी बनी थी जिसका नाम उन्होंने पीहू रखा. लेकिन इसके बाद ये दोनों अब अपने अपने रास्ते पर आगे निकल चुके हैं.

    वही अगर बेटी पीहू की बात करें तो लक्ष्मी अग्रवाल अकेले ही अपनी बेटी की परवरिश कर रही है. लक्ष्मी की कहे तो बीते कुछ वक्त पहले इनका एक इंटरव्यू सामने आया था जिसमें उन्होंने आलोक को लेकर कई बातें बताई थी. लक्ष्मी अग्रवाल ने बताया के उनकी इस लड़ाई में आलोक ने कई जगहों पर उनका साथ दिया जो कि उनके लिए काफी था. और यही मुख्य वजह रही के लक्ष्मी उनसे प्यार कर बैठी थी.

    वहीँ आलोक की कहें तो वो भी लक्ष्मी की मासूमियत और उनके जज्बे पर फ़िदा हो गये थे.इस बारे में बात करते हुए लक्ष्मी ने आगे बताया था के वो और आलोक आज भी एक दूसरे से बातचीत करते हैं. और आलोक आज भी लक्ष्मी की काफी केयर करते हैं और उनकी काफी इज्जत भी करते हैं.

    यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके बताना न भूले. आप इस बारे में क्या सोचते हो अपने विचार हमारे साथ जरूर शेयर कीजिये. अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया तो इसे अपने सभी दोस्तों के साथ फेसबुक पर जरूर शेयर कीजिये.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here