अर्जुन भैया संग अपने रिश्ते पर दिल खोलकर बोलीं जाह्नवी कपूर, बोली हमारा रिश्ता आदर्श नहीं..

अर्जुन कपूर और जाह्नवी कपूर के बीच कैसा रिश्ता है, इसे लेकर अब शायद उन्हें किसी को सफाई देने की भी जरूरत नहीं है। पास्ट में जो था सो था, लेकिन मौजूदा समय में इन दोनों के बीच का बॉन्ड किसी भी आम भाई-बहन की तरह है। ये एक-दूसरे को टीज करते हैं, तो उनके लिए प्रटेक्टिव भी है। इतना ही नहीं ये अब खुलकर अपने बीच के बॉन्ड को लेकर बात भी करते हैं। ये इसे लेकर इतने फ्रैंक हैं कि इन्हें इस बात को भी जाहिर करने में हिचकिचाहट नहीं होती कि इनके बीच अब भले ही सबकुछ ठीक हो गया हो, लेकिन कहीं न कहीं एक लाइन खिंची है, जो समय के साथ ही शायद दूर हो सकेगी। इस तरह की बातें जाह्नवी ने कई इंटरव्यूज में कही थी।

अगर ये दोनों नहीं होते, तो शायद मैं संभल नहीं पाती: करण जौहर के चैट शो में जाह्नवी कपूर ने जाहिर किया था कि जब उनकी मां श्रीदेवी का देहांत हुआ, उस समय अगर अर्जुन कपूर और अंशुला कपूर उनके साथ नहीं होते, तो शायद वह इस गम से कभी भी उबर नहीं पातीं। उन्होंने कहा था कि वह इस सपोर्ट के लिए शुक्रगुजार हैं और दोनों की मौजूदगी उन्हें ज्यादा सुरक्षित महसूस करवाती है।

मुश्किल समय में बिना कहे बस साथ में जाकर खड़े हो जाना और सारी कड़वी भावनाओं को भूल उनके लिए मजबूत ढाल बन जाना, अर्जुन-अंशुला ने जो किया, वो सिखाता है कि असल में मानवता और रिश्ता निभाना क्या होता है।

मुझे दो और सिब्लिंग मिल गए: फिल्मफेयर से बात करते हुए जाह्नवी ने अर्जुन और अंशुला के साथ अपने बॉन्ड के बारे में बात करते हुए कहा था कि उन दोनों की मौजूदगी ने उन्हें और स्ट्रॉन्ग बना दिया है। अदाकारा ने कहा था कि अब उन्हें दो और सिब्लिंग मिल गए हैं। जाह्नवी ने खुद को खुशकिस्मत बताया और कहा कि इससे अच्छा शायद ही और कुछ हो।

कहते हैं ताली दोनों हाथों से बजती है, और अर्जुन व जाह्नवी के रिश्ते में भी यही इफेक्ट देखने को मिलता है। अगर एक्टर ने अपनी ओर से पहला कदम बढ़ाया तो उनकी स्टेप सिस्टर ने भी उन्हें अपनी दुनिया में एंट्री देने और भाई होने का पूरा हक देने में देरी नहीं लगाई। इन दोनों की ये खूबी दिखाती है कि इनके पास अपनों के खातिर कितना बड़ा दिल है।

आइडल रिश्ते जैसा कुछ नहीं होता: अपने स्टेप ब्रदर के साथ रिश्ते पर राय रखते हुए जाह्नवी ने कहा था कि आदर्श रिश्ते जैसा कुछ नहीं होता है। उन्होंने कहा था कि विश्वास, सुरक्षा का भाव और आपसी समझ, ये चीजें हर व्यक्ति के लिए अलग तरह से मायने रखती हैं और जब किसी रिश्ते में ये होते हैं, तो उसे आदर्श की परिभाषा के करीब कहा जा सकता है। जाह्नवी ने कहा था कि उनका और अर्जुन का रिश्ता मॉर्डन, न्यू और स्पेशल है। वह उन्हें बड़े भाई के रूप में पाकर खुद को लकी मानती हैं।

जाहिर किया प्यार और स्नेह: जाह्नवी कपूर ने अपनी एक इंस्टाग्राम पोस्ट में भी भाई अर्जुन के लिए खुलकर प्यार और स्नेह जाहिर किया था। उन्होंने एक्टर के 36वें जन्मदिन पर प्यारी से पोस्ट करते हुए लिखा था कि वह चाहे जहां जाकर छिप जाएं, लेकिन वह उन्हें ढूंढ लेंगी और चाहे जो हो जाए बतौर परिवार वे सब हमेशा उनके साथ खड़े रहेंगे।

Leave a Comment