अपनी माँ से मिले CM योगी, पूछा ‘कैसी हो माई’, मां ने कहा ‘क्यूं रे, इतने सालों में तुझे मेरी याद नहीं आई, जानिए माँ बेटे में क्या बात हुई

    0
    249

    सबसे बड़े पीठ का पीठाधीश्वर और देश के सबसे बड़े राज्य का मुखिया मंगलवार को वर्षों बाद जब आज अपनी जननी से मिला तो सबसे पहले उनके मुंह से यही शब्द निकला कि…’कैसी हो माई’ । बेटे के यह शब्द सुनकर मां ने कहा- पहले थोड़ा तबियत ठीक नही थी, लेकिन अब तुझे देख कर मैं एकदम ठीक हो गई रे ! दरअसल मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड स्थित अपने पैतृक गांव पंचूर अपनी 84 साल की मां सावित्री देवी से मिलने पहुंचे थे। वर्षों बाद मिले मां-बेटे की आंखों में आंसू छलक आए। मां ने डांटते हुए कहा ‘क्यूं रे, इतने सालों में तुझे मेरी याद नहीं आई’। इससे पहले सीएम योगी ने अपनी मां के पैर छूकर आशीर्वाद लिया।

    कैसा चल रहा है तेरा उत्तर प्रदेश- सीएम योगी की मां ने अपने बेटे से सवाल किया कि कैसा है तू और कैसा चल रहा है तेरा उत्तर प्रदेश। मां ने अपने बेटे से कहा कि आज इतने दिन बाद तुझे देखकर मेरा कलेजा ठंडा हो गया मेरे लाल।

    मेरा जीवन मेरा नहीं रहा- इस पर बेटे अजय सिंह विष्ट ने कहा मां जब मैंने जिस दिन से घर त्याग दिया तो, मेरा जीवन मेरा नहीं रहा, ये जीवन समाज का हो गया, आज मैंने सन्यासी जीवन जीने के साथ राजधर्म की शपथ ली है। उस राजधर्म में मेरे लिए पूरा प्रदेश ही मेरा परिवार है। सन्यासी के धर्म में राष्ट्रधर्म ही मेरा धर्म है और ये राष्ट्र मेरा परिवार है।

    राजधर्म के ही अनुपालन में ही मिला हूं मां- लेकिन आज जब तुमसे मिला हूं तो उस राजधर्म के ही अनुपालन में मिल सका हूं। ये जीवन अब मेरा नही रहा, लेकिन तुम मेरी जननी हो, इस शाश्वत सत्य को इस धरा पर कोई नही मिटा सकता। मैं ऐसे ही राजधर्म के अनुपालन में आने वाले समय मे भी तुमसे मिलूंगा।

    काफी देर तक मां को निहारते रहे- सीएम योगी पांच साल के अधिक समय से वो अपने गांव नहीं गए थे। मंगलवार को सीएम योगी काफी मां को निहारते रहे। योगी इससे पहले 2017 में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान अपने घर आए थे। यमकेश्वर में भाजपा प्रत्याशी ऋतु खंडूडी के लिए चुनावी जनसभा को संबोधित करने के बाद 11 फरवरी 2017 को योगी ने रात अपने घर पर बिताई थी। तब वो सिर्फ गोरखपुर के सांसद थे।

    सीएम ने मां से मिलने की जताई थी इच्छा- बतौर मुख्यमंत्री के पहले कार्यकाल में 84 वर्षीय मां सावित्री देवी भी लखनऊ सीएम आवास में गई थीं। लेकिन इसके बाद मां और बेटे का मिलन नहीं हो पाया। यूपी में दोबारा सरकार बनाने के तत्काल बाद सीएम योगी ने मां से मिलने की इच्छा व्यक्त की थी।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here