जल्दी आ रही है मिनी बुलेट ट्रैन, जानिए स्पीड और रूट

    0
    265

    देश की राजधानी दिल्ली और उसके आसपास के क्षेत्रों में रैपिड ट्रांसिट सिस्टम के तहत ट्रेन चलाने को लेकर इन दिनों तैयारियां तेज़ी से चल रही है. इसके तहत सबसे पहले दिल्ली और मेरठ को जोड़ा जाएगा. यानी अगर आप मेरठ से दिल्ली रोज़ काम करने के लिए आना चाहते हैं तो फिर आपके लिए ये अच्छी खबर है.

    अगले साल इस मिनी बुलेट ट्रेन की शुरुआत हो जाएगी. पिछले हफ्ते ‘नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन’ को इस रूट पर चलने वाली बेहद खास ट्रेन को हैंडओवर कर दिया गया. यानी ट्रेन पूरी तरह बनकर तैयार है. इस बेहद खास ट्रेन को बनाया है एल्सटॉम इंडिया ने.

    इस तरह की पहली ट्रेन सराये काले खां-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर चलेगी. इस ट्रेन को एल्सटॉम के गुजरात के सांवली स्थित प्लांट में बनाया गया है.

    दिल्ली से मेरठ की दूरी करीब 80 किलोमीटर है. फिलहाल इतनी कम दूरी के लिए ट्रेन से जाने पर करीब 2 घंटे लग जाते हैं. लेकिन इस मिनी बुलेट ट्रेन के चलने के बाद मेरठ पहुंचने में सिर्फ 40-50 मिनट लगेंगे.

    सेमी हाई-स्पीड रीजनल ट्रेन को 180 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने के लिए डिज़ाइन किया गया है. यानी इससे दिल्ली-मेरठ के बीच यात्रा के समय में 40% तक की कमी आने की उम्मीद है.

    पहली ट्रेन उत्पादन की शुरुआत के बाद से एक साल से भी कम समय में इसे हैंडओवर कर दिया गया. भारत में सावली (गुजरात) में एल्सटॉम के कारखाने में इसे बनाया गया है. यानी ये सौ फीसदी मेड इन इंडिया है.

    इसे एल्सटॉम के हैदराबाद इंजीनियरिंग केंद्र में डिज़ाइन किया गया है. ये ट्रेनें सरकार के मेक इन इंडिया कार्यक्रम और आत्मानिर्भर भारत की महत्वाकांक्षा के अनुरूप 100% स्वदेशी हैं.

    भारत की सबसे तेज गति से चलने वाली ये ट्रेनें होंगी. इन्हें इस तरह बनाया गया है कि इनकी अधिकतम स्पीड 180 किलोमीटर प्रति घंटा, ऑपरेटिंग स्पीड 160 किमी प्रति घंटा और औसत गति 100 किमी प्रति घंटा तक रहेगी.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here