जयपुर में 6 महीने बाद डीज़ल दूसरी बार 100रूपये के पार, लोगो ने वैट टैक्स घटाने की मांग की

    0
    126

    तेल कंपनियों ने जयपुर में डीजल और पेट्रोल को कीमतों के हिसाब से उच्चतम स्तर पर पहुंचा कर आम आदमी के उपर महंगाई का बम फोड दिया है। तेल कंपनियों ने सोमवार को डीजल पर 82 रुपए की एक अतिरिक्त बढ़ोतरी कर इसे छह माह बाद 100 रुपए प्रतिलीटर के पार पहुंचा दिया। वहीं पेट्रोल पर 88 पैसे की अतिरिक्त बढ़ोतरी कर कीमतों को 117 रुपए 27 पैसे प्रतिलीटर के उच्चतम स्तर पर पहुंचा दिया है।

    इससे पहले तेल कंपनियों ने 2021 में 3 अक्टूबर डीजल पर 33 पैसे की बढ़ोतरी की तो प्रतिलीटर डीजल 100 रुपए के पार पहुंच कर 100 रुपए 15 पैसे के स्तर पर पहुंच गया था। इसके बाद 3 नवंबर को प्रतिलीटर पेट्रोल के दाम 117 रुपए 47 पैसे के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए थे।

    पेट्रोलियम डीलर्स का कहना है कि राजस्थान में वैट सबसे ज्यादा है। यही कारण है कि यहां तेजी से डीजल और पेट्रोल की कीमतें ज्यादा तेजी से बढ़ रही हैं। छह माह पहले जब कीमतें उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी तब केन्द्र सरकार ने एक्साईज डयूटी और राज्य सरकार ने वैट कम करके थोड़ी राहत दी।

    लेकिन इन दोनों राहतों को तेल कंपनियों ने 15 दिन में ही वापस ले लिया। अब जिस हिसाब से कीमतें बढ़ रही हैं उससे तय है कि कुछ दिनों में ही पेट्रोल 120 रुपए के पार हो जाएगा। जबकि जयपुर में डीजल 100 रुपए के पार हो गया है।
    उधर पेट्रोल और डीजल लगातार महंगा हो रहा है। लेकिन जनता को राहत देने की बात पर राज्य के वित्त विभाग ने चुप्पी साध रखी है। अब महंगे होते पेट्रोल और डीजल को सस्ता करने के लिए एक बार फिर वैट कम करने की मांग उठने लगी है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here