1 अप्रैल से इन सभी चीज़ों हुई महंगी: TV, फ्रिज, LED और मोबाइल चलना भी हुआ महंगा, जानिए किन किन पर पड़ेगा असर

    0
    190

    बजट 2022 में किए गए कुछ प्रावधानों की वजह से 1 अप्रैल से उपभोक्‍ताओं पर महंगाई का बोझ और बढ़ने वाला है। कल से TV, AC फ्रिज के साथ मोबाइल चलाना भी महंगा हो जाएगा। दरअसल, वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारमण ने इस साल फरवरी में पेश बजट में कई उत्‍पादों पर आयात शुल्‍क बढ़ा दिया था, जबकि कुछ पर इसमें कटौती की गई थी। नया शुल्‍क 1 अप्रैल से लागू हो रहा है। लिहाजा जिन कच्‍चे माल पर उत्‍पाद शुल्‍क बढ़ाया गया है, उनसे जुड़े उत्‍पादों की कीमतों में इजाफा होना तय माना जा रहा है।

    इसलिए महंगे होंगे टीवी, एसी, फ्रिज- सरकार ने 1 अप्रैल से एल्‍युमीनियम के अयस्‍क और कंसन्‍ट्रेट पर सरकार ने 30 फीसदी आयात शुल्‍क लगा दिया है। इसका इस्‍तेमाल टीवी, एसी और फ्रिज का हार्डवेयर बनाने में होता है। कच्‍चे माल की सप्‍लाई महंगी होने की वजह से कंपनियों की उत्‍पादन लागत में इजाफा होगा और इसका सीधा बोझ उपभोक्‍ताओं पर पड़ेगा। इसके अलावा कंप्रेसर में इस्‍तेमाल होने वाले पार्ट्स पर भी आयात शुल्‍क बढ़ा दिया है, जिससे रेफ्रिजरेटर के दाम बढ़ जाएंगे।

    LED बल्‍ब का भी बढ़ जाएगा दाम- सरकार ने LED बल्‍ब बनाने में इस्‍तेमाल होने वाली सामग्री पर मूल सीमा शुल्‍क के साथ 6 फीसदी प्रतिपूर्ति शुल्‍क वसूलने की बात कही है। 1 अप्रैल से इसका नया नियम लागू होने के बाद LED बल्‍ब भी महंगे हो जाएंगे।

    सरकार ने चांदी पर आयात शुल्‍क में भी बदलाव किया है, जिससे 1 अप्रैल के बाद चांदी के बर्तन और इससे बनने वाले उत्‍पाद भी महंगे हो जाएंगे। इसके अलावा स्‍टील के सामान पर भी महंगाई की मार पड़ेगी और कल से स्‍टील से बने बर्तन महंगे हो जाएंगे।

    मोबाइल बढ़ाएगा जेब पर बोझ- सरकार ने मोबाइल फोन बनाने में इस्‍तेमाल होने वाले प्रिंटेड सर्किट बोर्ड पर भी सीमा शुल्‍क लगा दिया है। यानी बाहर से इन उत्‍पादों का आयात अब महंगा हो जाएगा जिसका असर कंपनियों की उत्‍पादन लागत पर पड़ेगा। अमेरिकी फर्म Grant Thronton के अनुसार, सरकार के इस फैसले का सीधा असर उपभोक्‍ताओं पर पड़ेगा और मोबाइल के दाम बढ़ सकते हैं।

    टेलीकॉम कंपनियां भी देंगी झटका- जो टेलीकॉम कंपनियां अभी तक अपने ग्राहकों को फ्री अनलिमिटेड डाटा और कॉलिंग की सुविधा दे रहीं थीं। वे 31 मार्च को इन सेवाओं को खत्‍म कर देंगी। ऐसे में 4जी मार्केट में बढ़ती प्रतिस्‍पर्धा के बीच ऐसे ग्राहकों को अब कोई टैरिफ प्‍लान चुनना पड़ेगा और उन पर मोबाइल चलाने का खर्च भी अनायास ही बढ़ जाएगा।

    वायरलेस ईयरबड्स और हेडफोन होंगे महंगे- सरकार ने बजट में वायरलेस ईयरबड में इस्‍तेमाल होने वाले कुछ उपकरणों पर आयात शुल्‍क बढ़ा दिया है, जिससे इनका उत्‍पादन महंगा हो जाएगा। माना जा रहा है कि अप्रैल से वायरलेस ईयरबड बनाने वाली कंपनियां भी अपने उत्‍पादों के दाम बढ़ा सकती हैं। इसके अलावा प्रीमियम हेडफोन के आयात पर भी शुल्‍क बढ़ जाएगा जिससे 1 अप्रैल के बाद हेडफोन खरीदना ग्राहकों को महंगा पड़ेगा।

    ये उत्‍पाद हो सकते हैं सस्‍ते- बजट में स्‍मार्टफोन से जुड़े कई उत्‍पादों पर आयात शुल्‍क कम भी किया गया है। इसमें मोबाइल का चार्जर, ट्रांसफार्मर, कैमरा लेंस मॉड्यूल जैसे आइटम शामिल हैं। नया शुल्‍क लागू होने के बाद इनसे जुड़े उत्‍पादों की कीमतों में गिरावट आ सकती है। सरकार ने स्‍मार्टवॉच और फिटनेस बैंड के कुछ पार्ट्स पर भी उत्‍पाद शुल्‍क घटाया है, जिससे अप्रैल से ये उत्‍पाद कुछ सस्‍ते हो सकते हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here