सरकार कर रही है जुलाई के महीने में 7 बड़े बदलाव ? जानिए आम जनता पर कितना रहेगा इसका असर

0
301

क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार की ओर से 30 फीसदी का टैक्स लगाए जाने के बाद अब 1 जुलाई से क्रिप्टो निवेशकों को एक और झटका लगने वाला है. दरअसल, जुलाई से निवेशकों को सभी तरह के क्रिप्टो ट्रांजैक्शन पर 1 फीसदी की दर से टीडीएस का भुगतान करना होगा, चाहे वो क्रिप्टो असेट लाभ में बेचा गया हो या नुकसान में. सरकार के इस फैसले के पीछे दरअसल, मकसद यह है कि ऐसा करके वह क्रिप्टोकरेंसी में लेन-देन करने वालों की निगरानी कर सकेगी.

दूसरे बड़े बदलाव के बारे में बात करें तो 1 जुलाई 2022 से व्यवसायों से प्राप्त गिफ्ट पर 10 फीसदी की दर से टैक्स डिडक्टेड एट सोर्स  देना होगा। ये टैक्स सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर और डॉक्टरों पर लागू होगा। सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर्स के लिए टीडीएस देना तब जरूरी होगा जब किसी कंपनी की ओर से मार्केटिंग के उद्देश्य गिफ्ट दिया गया हो, जबकि डॉक्टरों को मिलने वाली मुफ्त दवा के सैंपल, विदेशी फ्लाइट टिकट या अन्य मंहगे गिफ्ट पर यह नियम लागू होगा.

1 जुलाई से लेबर कोड के नए नियम लागू होने की पूरी संभावना है. इसके लागू होने के साथ ही इन हैंड सैलरी, कर्मचारियों की ऑफिस टाइमिंग, पीएफ योगदान और ग्रेच्युटी पर असर देखने को मिलेगा. रिपोर्ट के मुताबिक, इसके तहत कामकाज के अधिकतम घंटों को बढ़ाकर 12 करने का प्रस्ताव पेश किया है. यानी कर्मचारियों को 4 दिन में 48 घंटे यानी हर दिन 12 घंटे काम करना होगा. हालांकि, यह नियम किसी विशेष राज्य द्वारा निर्धारित नियमों के आधार पर एक राज्य से दूसरे राज्य में बदल सकता है.

पहली जुलाई से एयर कंडीशनर खरीदना महंगा हो जाएगा. दरअसल, ब्यूरो ऑफ एनर्जी एफिशिएंसी ने एयर कंडीशनर्स के लिए एनर्जी रेटिंग रूल्स में बदलाव किया है, जो कि 1 जुलाई 2022 से लागू होने जा रहा है. इसके मुताबिक, जुलाई महीने की पहली तारीख से 5-स्टार एसी की रेटिंग सीधे 4-स्टार हो जाएगी. नई एनर्जी एफिशिएंसी निर्देशों के साथ ही भारत में एसी की कीमतों में आने वाले समय में 10 फीसदी तक की वृद्धि देखने को मिल सकती है.

आप 500 रुपये के जुर्माने के साथ अपने पैन कार्ड और आधार को लिंक कराने में कतई देरी न करें, क्योंकि ये जरूरी काम करने की आखिरी तारीख 30 जून है यानी इसके लिए आपके पास महज तीन दिन बचे हैं. ऐसे में अगर आप 30 जून 2022 के बाद यानी 1 जुलाई या उसके बाद ये काम करते हैं तो आपको दोगुना जुर्माना भरना पड़ेगा. यानी फिलहाल पैन और आधार लिंक करने के लिए जो 500 रुपये जुर्माने का प्रावधान है, एक जुलाई से आपको इन दस्तावेजों को लिंक करने के लिए 1,000 रुपये जुर्माना भरना पड़ेगा.

अगर आपने अब तक अपने डिमैट ट्रेडिंग अकाउंट की केवाईसी पूरी नहीं कराई है, तो इसे करने के लिए आपके पास 30 जून तक का समय बचा है. तक आप डिमैट ट्रेडिंग अकाउंट का केवाईसी करा सकते हैं. बाजार नियामक सेबी के मुताबिक, डीमैट अकाउंट में शेयर और सिक्योरिटीज रखने के लिए सुविधा दी जाती है और इसकी केवाईसी प्रक्रिया पूरी न होने पर आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है.

हर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर की कीमतें संशोधित की जाती हैं. ऐसे में जुलाई महीने के पहले दिन भी इसमें बदलाव की संभावना जताई जा रही है. बीते कुछ समय से देश की आम जनता को गैस की कीमतों के मोर्चे पर झटका दिया गया है और इस बार भी उम्मीद जताई जा रही है कि एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में इजाफा हो सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here