महिलाओं से दोस्ती करना पड़ा भारी,चार से 5 गर्लफ्रेंड रखता था

    0
    190

    पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या की वारदात को अंजाम देने वाला आरोपी प्रियव्रत उर्फ फौजी को महिलाओं से दोस्ती करना भारी पड़ गया. आरोपी प्रियव्रत अपनी एक ग्रलफ्रेंड के जरिए ही दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़ा. दिल्ली पुलिस सूत्रों के मुताबिक एक महीने से भी ज्यादा बीत जाने के बाद भी कई बार बेहद करीब तक पहुचने के बावजूद पुलिस शूटर को गिरफ्तार नही कर पा रही थी. पुलिस ने सभी शूटर्स की पहचान कर ली थी. पुलिस सूत्रों के मुताबिक प्रियव्रत उर्फ फौजी की चार से 5 गर्लफ्रेंड हैं. इनमें से एक लड़की को प्रियव्रत की दूसरी लड़कियों से दोस्ती का पता चल गया था. जिससे वो प्रियव्रत से बेहद नाराज थी. सूत्रों के मुताबिक इसी लडक़ी के मोबाइल सुर्विलांस से पुलिस को प्रियव्रत उर्फ फौजी का अहम सुराग मिला. जिसके बाद पुलिस ने गुजरात से इसे गिरफ्तार कर लिया.

    पुलिस सूत्रों के मुताबिक प्रियव्रत उर्फ फौजी ने पूछताछ में ये भी बताया है कि इन्होंने पंजाब पुलिस की वर्दी भी खरीदी हुई थी. इनका ये भी प्लान था कि ये पुलिस कर्मी बनकर मुसेवाला के घर में घुस जाए और उसकी हत्या कर दे. सूत्रों के मुताबिक इनके प्लान पिछले 2 महीने में कई बार बदले. कई बार रैकी की गई. आखिरकार 29 मई को ये वारदात अंजाम देने में कामयाब हो गए.

    गिरफ्तार दोनों शूटरों ने किए कई खुलासे- मूसेवाला की हत्या के आरोप में गिरफ्तार दोनों शूटरों ने कई खुलासे किए है. सभी बदमाशों को हथियारों के तीन सप्लायर के ज़रिए मिलते थे हथियार. जिसमें एक सप्लायर अमेरिका में बैठा जबकि दूसरा यूपी में और तीसरा जेल में बंद है. कपिल पंडित और सचिन भवानी नाम के दो गैंगस्टर ने शूटरों को हरियाणा के हिसार और गुजरात में शेल्टर मुहैया कराया था. जंहा ये शूटर रुके थे. सूत्रों के मुताबिक हथियारों को रखने के लिए बाकायदा एक सेफ हाउस बनाया था. जंहा से ये हथियार रोजाना लेते थे और फिर रखते थे. स्पेशल सेल के सूत्रों के मुताबिक दोनों शूटर पुलिस को गुमराह करने की कोशिश कर रहे है. स्पेशल सेल वारदात को अंजाम देने के बाद ये कहां-कहां रुके इनका रुट क्या था ये पता लगाया जा रहा है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here