अगर आपका भी है इस बैंक में अकाउंट तो हो जाइये सावधान, RBI ने कर दिया है इस बैंक को सस्पेंड

    0
    185

    भारतीय रिजर्व बैंक ने कर्नाटक के दावणगेरे में स्थित मिलथ को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड का लाइसेंस सस्पेंड कर दिया है। केंद्रीय बैंक ने यह कदम इसलिए उठाया है, क्योंकि इस सहकारी बैंक के पास पर्याप्त पूंजी नहीं है और यह अपने मौजूदा जमाकर्ताओं की पूरी राशि चुकाने की स्थिति में नहीं है।

    रिजर्व बैंक ने एक बयान में कहा है कि शनिवार 18 जून, 2022 को कारोबार बंद होने के बाद बैंक बैंकिंग बिजनेस नहीं कर पाएगा। RBI ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, “कर्नाटक के सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार से भी बैंक को बंद करने और बैंक के लिए एक लिक्विडेटर नियुक्त करने का आदेश जारी करने का अनुरोध किया गया है।”

    बयान में कहा गया है कि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की कोई संभावनाएं नहीं हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मिलथ को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड बैंकिग नियमन अधिनियम, 1949 की धारा 56 के प्रावधानों का अनुपालन करने में विफल रहा है।

    बैंक का लाइसेंस सस्पेंड करने की घोषणा करते हुए रिजर्व बैंक ने कहा कि बैंक द्वारा जमा कराए गए ब्योरे के अनुसार जमाकर्ताओं को डिपॉजिट इंश्योरेंस एवं क्रेडिट गारंटी निगम (DICGC) के जरिए अपनी पूरी जमा राशि मिलेगी। लिक्विडेटर नियुक्त होने की स्थिति में प्रत्येक जमाकर्ता को DICGC से जमा बीमा दावे का अधिकार होता है। इसकी सीमा 5 लाख रुपये तक है।

    RBI ने कहा कि अगर बैंक को आगे बैंकिंग बिजनेस जारी रखने की अनुमति दी गई तो इससे जनहित पर प्रतिकूल असर पड़ेगा। 18 मई, 2022 तक DICGC ने बैंक के संबंधित जमाकर्ताओं से प्राप्त अनुरोध के आधार पर DICGC एक्ट, 1961 की धारा 18A के प्रावधानों के तहत कुल जमा राशि का 10.38 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुका है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here