अगर आप भी सोना खरीदने के बारे में सोच रहे है आपके लिए अच्छी खबर है

0
168

गर्मी के तेवर परवान चढऩे लगे हैं. मई-जून से पहले ही आसमान से आग बरसने लगी है. इसी बीच सर्राफा बाजार से राहत के छींटों के संकेत मिले हैं. दिनोंदिन महंगे होते सोने के सस्ते होने के कयास लगाए जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में गरमी बढ़ेगी लेकिन गोल्ड को कोल्ड हो जाएगा यानी इसके दामों में गिरावट आ सकती है.

जानकारी के अनुसार रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध के कारण दुनिया भर के बाजारों में अस्थिरता है. भारत में भी इसका असर देखने को मिल रहा है. सोना 50 हजार के ऊपर है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी सोना काफी महंगा है. हालांकि अगर युद्ध समाप्त है तो सोना सस्ता होने की उम्मीद है. पूर्वी यूरोप में युद्ध छिडऩे के बाद सोना बढ़कर 2070 अमरीकी डॉलर पर पहुंच गया था. यह कुछ हद तक सुरक्षा को लेकर चिंताओं का परिणाम था. हालांकि युद्ध की स्थिति में थोड़ी नरमी के साथ सोने की कीमतें गिरकर 1923 अमरीकी डॉलर पर आ गई हैं. इसके अनुसार सोना लगभग छह महीने तक 1760 अमरीकी डॉलर से 1860 अमरीकी डॉलर के बीच रहा. यह उच्च स्तर पर पहुंचा क्योंकि लगभग सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मुद्रास्फीति की उम्मीदें बढ़ी हैं.

घोषणा होते ही उल्टे पैर दौड़ेगा सोना:- जयपुर सर्राफा कमेटी अध्यक्ष कैलाश मित्तल के मुताबिक रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध समाप्त होने की घोषणा के बाद सोने की कीमतों में तेजी से गिरावट आ सकती है. रूस के पास भी सोने का बड़ा भंडार है और वह इसे ग्लोबल मार्केट में बेचना चाहता है. अगर यह सोना बाजार में आता है तो इसकी आपूर्ति बढ़ेगी और कीमतों में बड़ी गिरावट आ सकती है.

केवल सावों वालों की मांग:- सोने-चांदी के भावों में आई जोरदार तेजी के कारण वर्तमान में सिर्फ शादियों की ही मांग बाजार में है. अधिकांश लोगों ने फिलहाल सोने और चांदी में निवेश से दूरी बना ली है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here