अपने सेविंग अकाउंट से करनी है मोटी कमाई, तो अपनाएं यह 4 तरीके

0
194

महंगाई की मार से हर कोई लाचार है। ऐसे में घर चलाना ही मुश्किल हो गया तो कमाई बढ़ाना और बचत करना तो बहुत दूर की बात है। हर किसी के जहन में इस तरह के सवाल होते हैं कि आखिर इस महंगाई के दौर में कमाई की जरिया कैसे बढ़ाया जाए और बचत किसी तरह की जाए। आपको बता दें कि बचत खाता ना सिर्फ आपकी बचत करता है बल्कि आपकी कमाई का भी बेहतरीन जरिया बन सकता है। बस जरूरत है कि खास तरीके अपनाने की, जिसके जरिए आप अपने Saving Account को ही अपनी कमाई की बेहतरीन जरिया बना सकते हैं। दरअसल बचत खाता ब्याज की कमाई पर टैक्स बचाने की सुविधा देता है।

बचत खाते की खासियत है कि इस खाते में जब चाहें पैसे जमा करें या निकालें जमा पैसे पर समय के साथ ब्याज जुड़ता रहता है। बचत खाते पर 3-3.5 फीसदी तक तक ब्याज प्राप्त हो जाता है। बता दें कि, अलग-अलग बैंकों के बचत खाते में जमा राशि पर 10,000 रुपए ब्याज तक कोई टैक्स नहीं देना होगा 60 साल तक की उम्र के जमाकर्ताओं को इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80TTA के अंतर्गत टैक्स बचाने की यह सुविधा मिलती है।

बचत खाते से कमाई की बात करें तो इसके लिए आपको अपने बचत खाते को अलग-अलग खातों से जोड़ना होगा। इसका फायदा यह होगा कि खाते में जरूरत से ज्यादा पैसा आते ही, वह सेविंग स्कीम खाते में ट्रांसफर हो जाएगा, इससे आपकी बचत की आदत मजबूत होगी। इसके साथ ही ब्याज से कमाई भी बढ़ेगी।

ये हैं चार खाते जिनसे बचत खाते को जोड़कर हो बढ़ सकती है कमाई

1. FD खाते को बचत खाते से जोड़ें- बचत खाते को अपने फिक्स डिपॉजिट खाते से जोड़ दें। इसके बाद बचत खाते में ऑटोमेटिक मनी ट्रांसफर का सिस्टम सेट कर दें। एक निश्चित रकम के बाद जो पैसा बढ़ेगा वह राशि एफडी खाते में ट्रांसफर हो जाएगी।

उदाहरण के लिए सेविंग अकाउंट की राशि 25,000 रुपए निर्धारित कर दी। उससे ज्यादा जब पेसा होगा, तो ऑटोमेटिक एफडी खाते में ट्रांसफर हो जाएगा। इससे बचत खाते से ज्यादा FD Account में ब्याज की कमाई होगी।

2. रेकरिंग डिपॉजिट खाता- सेविंग खाते को रेकरिंग डिपॉजिट खाते से जोड़ दें। इस खाते में ऑटो डेबिट सेट कर दें। ऐसे में हर महीने एक निर्धारित रकम बचत खाते से कट कर आरडी खाते में जाती रहेगा। जब आप कोई बड़ा खर्च प्लान करेंगे तो ये आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

3. म्यूचुअल फंड में SIP- अपने बचत खाते से न्यूनुअल फंड के लिए डेली, मथली या फिर क्वार्टरली SIP शुरू कर सकते हैं। इससे लंबी अवधि के लिए पैसे बचा सकते हैं। आपके सेविंग खाते से म्युचुअल फंड एसआईपी में जमा होता रहेगा और आप तनाव मुक्त रहेंगे।

4. PPF और NPS- अपने बचत खाते को PPF और NPS जैसी योजनाओं से भी जोड़ सकते हैं। दरअसल ये योजनाएं आपको अपने रिटायरमेंट फंड के लिए बचत करने में मदद कर सकती हैं। पीपीएफ निश्चित रिटर्न देता है और टैक्स भी बचाता है। आपकी जमा राशि पर धारा 80सी के तहत कटौती की सुविधा मिलती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here