देवा गुर्जर के हत्याकांड में 2 नए किरदारों का नाम आया सामने, बढ़ती जा रही है आरोपियों की संख्या

    0
    208

    देवा गुर्जर हत्याकांड मामले में बड़ा अपडेट सामने आया है. बहुचर्चित हिस्ट्रीशीटर देवा गुर्जर हत्याकांड में दो और बदमाशों की भूमिका सामने आई है. उसके बाद इस मामले की जांच कर रही एसआईटी ने उनकी भी तलाश शुरू कर दी है. देवा गुर्जर की हत्या के मामले में आरोपियों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. यह संख्या 13 से शुरू होकर पहले ही 23 तक पहुंच चुकी है. अब दो और बदमाशों के नाम सामने आने से इनकी संख्या 25 तक पहुंच गई है. हालांकि पुलिस ने दोनों बदमाशों को अभी तक नामजद नहीं किया है लेकिन सरगर्मी से उनकी तलाश की जा रही है.

    इस बीच पुलिस ने इस मामले में पहले से फरार चल रहे मुख्य आरोपी बाबू गुर्जर के भाई भैरूलाल गुर्जर पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है. अब पुलिस के सामने केवल भैरूलाल गुर्जर को पकड़ना ही चुनौती नहीं है बल्कि उसे दो अन्य बदमाशों को भी पकड़ना है. इन बदमाशों की भी भूमिका भी इस हत्याकांड के षड़यंत्र में अहम बताई जा रही है. लिहाजा अब फरार बदमाशों की संख्या फिर से बढ़कर तीन हो गई है.

    फरार आरोपी भैंरूलाल गुर्जर के खिलाफ 6 मामले दर्ज हैं- भैंरूलाल गुर्जर के खिलाफ भी पहले से ही 6 आपराधिक मामले दर्ज हैं. पुलिस उस पर इनाम घोषित करने के साथ ही उसकी संपत्ति को भी कुर्क करने की कार्रवाई करने की तैयारी कर रही है. पुलिस इस मामले पूर्व में नामजद 23 आरोपियों में से 22 को गिरफ्तार कर चुकी है. उनमें से भैरूलाल अभी तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है. पुलिस लगातार उसके संभावित ठिकानों पर दबिश दे रही है.

    पुलिस ने दर्रा जंगल का कोना-कोना छान मारा- पुलिस को अब भी शक है कि भैरूलाल गुर्जर जंगलों में ही कहीं छिपा हुआ है. लिहाजा उसकी तलाश में दर्रा के जंगलों की अब भी खाक छानी जा रही है. एक दिन पहले सामने आये दो अन्य बदमाशों के भी जंगलों में ही छिपे होने की संभावना जताई जा रही है. आरोपियों की तलाश में पुलिस ने मुकुंदरा हिल्स और दर्रा के जंगलों का कोना-कोना छान मारा है.

    देवा गुर्जर के दुश्मनों की फेहरिस्त काफी लंबी है- देवा गुर्जर की इस माह ही शुरुआत में रावतभाटा में दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी. कोटा के आरकेपुरम थाने के हिस्ट्रीशीटर रहे देवा गुर्जर पर भी एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं. पुलिस की जांच में सामने आया कि बड़ा डॉन बनने की चाहत में देवा की कई बदमाशों से दुश्मनी हो गई थी. यही दुश्मनी उस पर भारी पड़ गई और उसके दुश्मनों ने उसे दिनदहाड़े मौत के घाट उतार दिया.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here