अग्निपथ योजना के विरोध प्रदर्शन के चलते भारतीय रेलवे को रद्द करनी पड़ी 200 ट्रेने, और 340 ट्रेनों पर पड़ा असर

    0
    115

    देश की तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए लागू हुई नई ‘अग्निपथ स्कीम’ के हिंसक विरोध का असर रेल सेवाओं पर भी पड़ा है. देशभर में हुई हिंसा से 340 ट्रेनें प्रभावित हुई हैं. इनमें से 200 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. प्रदर्शनकारियों की आगजनी से भी 11 ट्रेनों पर असर पड़ा है. ऐसे में अगर आप आज या कल में ट्रेन के जरिए कहीं बाहर जाने की प्लानिंग कर रहे थे तो निकलने से पहले एक बार ट्रेनों की स्थिति जरूर जान लीजिएगा.

    हिंसक विरोध से 340 ट्रेनों के संचालन पर पड़ा असर- रेलवे ने शुक्रवार को बताया कि ‘अग्निपथ स्कीम’ के हिंसक विरोध की वजह से 94 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें और 140 यात्री ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं. जबकि 65 मेल- एक्सप्रेस और 30 यात्री ट्रेनें आंशिक रूप से रद्द की गई गई हैं. रेलवे ने 11 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को भी डायवर्ट किया है. अधिकारियों ने कहा कि अब तक प्रभावित ट्रेनों की कुल संख्या 340 है. ऐसे में ट्रेनों के जरिए कहीं बाहर आने-जाने की सोच रहे लोगों को परेशानी हो सकती है.

    रेलवे प्रशासन ने जीआरपी के लिए जारी किया अलर्ट-अग्निपथ सेना भर्ती को लेकर बढ़ रहे विरोध को देखते हुए रेलवे प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है. रेलवे के इस स्कीम के विरोध में 20 जून को भारत बंद के आह्वान की जानकारी मिली है. जिसे देखते हुए नॉर्दन रेलवे ने जीआरपी को पंजाब, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और दिल्ली में अलर्ट रहने को कहा है. रेलवे प्रशासन ने इस मुद्दे पर स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर रेलवे की संपत्तियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है.

    20 जून के ‘भारत बंद’ के आह्वान से बढ़ी चिंता- रेलवे ने GRP को निर्देश दिया है कि 20 मई को सभी यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए. रेलवे में किसी तरह की तोड़-फोड़ ना हो, इसका ख्याल रखा जाए और सभी ट्रेनों का संचालन स्मूथ रहे. हिंसक भीड़ से निपटने के लिए पहले ही ऐहतियाती उपाय कर लिए जाएं और किसी भी दशा में ट्रेनों या स्टेशनों को नुकसान पहुंचने से बचाया जाए. प्रदर्शन के नाम पर हिंसा करने वालों की वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी करने का भी निर्देश दिया गया है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here