दिल्ली से जल्द ही चलने वाली है रैपिड रेल, जानिए कितनी स्पीड है ट्रैन की और तस्वीरें

0
199

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में रीजनल रैपिड ट्रांसिट सिस्टम के तहत इस्तेमाल होने वाली पहली ट्रेन को तैयार कर लिया गया है. इस बेहद खास ट्रेन को बनाया है एल्सटॉम इंडिया ने. शनिवार को गुजरात स्थित कंपनी के प्लांट में ‘नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन’ को सौंप दिया गया.

एनसीआरटीसी भारत का पहला रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम विकसित कर रही है. ये तेज रफ्तार वाली क्षेत्रीय यात्री परिवहन रेल प्रणाली है. इस तरह की पहली ट्रेन सराये काले खां-गाजियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कॉरिडोर पर चलेगी.

आधुनिक सुविधाओं से लैस इस ट्रेन को एल्सटॉम के गुजरात के सांवली स्थित प्लांट में एनसीआरटीसी को सौंपा गया. एल्सटॉम इंडिया ने ट्रेन की चाबियां एनसीआरटीसी को दी. इस मौके पर आवासीय और शहरी मामलों के मंत्रालय में सचिव मनोज जोशी भी मौजूद थे.

एनसीआरटीसी के अधिकारियों के मुताबिक भारत की सबसे तेज गति से चलने वाली ये ट्रेनें होंगी. इन्हें इस तरह बनाया गया है कि इनकी अधिकतम स्पीड 180 किलोमीटर प्रति घंटा, ऑपरेटिंग स्पीड 160 किमी प्रति घंटा और औसत गति 100 किमी प्रति घंटा रहेगी.

आरआरटीएस के तहत 17 किलोमीटर पहले फेज 2023 तक शुरू हो सकता है. साथ ही पूरे कॉरिडोर पर परिचालन 2025 तक शुरू होने की उम्मीद है.

खास बात ये है कि इस ट्रेन को पूरी तरह से भारत में ही बनाया गया है. फिलहाल दिल्ली-मेरठ के बीच के किराये को लेकर अभी कुछ भी तय नहीं किया गया है. लेकिन कहा जा रहा है कि किराया यात्रियों की सुविधा और राजस्व को ध्यान में रखते हुए ही तय किया जाएगा.

इस अवसर पर आवासीय एवं शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अपने वीडियो मैसेज में कहा कि नए दौर की ये ट्रांजिट प्रणाली तेजी से होते शहरीकरण का प्रबंधन करने में भी मददगार होगी. उन्होंने उम्मीद जतायी कि इस प्रोजेक्ट के पहले फेज की शुरुआत अपने निर्धारित समय पर हो जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here