इस शहर से दिल्ली तक चलेगी रैपिड रेल, अगले साल से उतर जाएगी ट्रैक पर, जानिए कितना काम बचा है?

    0
    318

    मेरठ से दिल्ली तक रैपिड रेल 2023 में ही दौड़ने लगेगी. इसके लिए पहले 2025 का लक्ष्य तय किया गया था. यानि, लक्ष्य से ढाई साल पहले ही देश को पहली रैपिड रेल की सौगात मिल जाएगी. इससे मात्र 51 मिनट के भीतर लोग मेरठ से दिल्ली तक का तेज और आरामदायक सफर पूरा कर सकेंगे.

    केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय के सचिव और एनसीआरटीसी के चेयरमैन दुर्गाशंकर मिश्र ने शनिवार को दिल्ली से मेरठ 82 किमी. लंबे रैपिड रेल कॉरीडोर के निर्माण कार्य का जायजा लेने के बाद यह घोषणा की. उन्होंने बताया कि पहले चरण में 17 किमी. लंबे साहिबाबाद-दुहाई कॉरीडोर का काम दिसंबर 2022 तक पूरा होने की उम्मीद है.

    आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एनसीआर के लोगों को यह तोहफा देंगे. इसी तरह दिल्ली से मेरठ तक रैपिड का सफर भी दिसंबर 2023 में शुरू हो जाएगा. उन्होंने कहा कि किसी तरह की बाधा भी आई तो अधिकतम मार्च 2024 तक काम खिंच सकता है. इससे अधिक समय नहीं लगेगा. उन्होंने कहा कि सराय काले खां से मोदीपुरम डिपो तक जिस रफ्तार से काम चल रहा है उससे 2025 नहीं बल्कि दिसंबर-2023 में ही देश को रैपिड रेल की सौगात मिल जाएगी. केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय की टीम ने सराय काले खां से मेरठ मोदीपुरम तक कॉरीडोर के निर्माण कार्य का मुआयना करीब छह घंटे में पूरा किया. इस दौरान, मेरठ मंडल के कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह, एनसीआरटीसी के एमडी विनय कुमार सिंह मौजूद रहे.

    दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल कॉरीडोर के जरिए मेरठ से इंदिरा गांधी इंटरनेशनल (आईजीआई) एयरपोर्ट तक आना-जाना आसान हो जाएगा. मेरठ से इंटरनेशनल एयरपोर्ट का सफर करीब 65 मिनट में तय होगा. वहीं, दिल्ली की आठ लाइन मेट्रो से भी मेरठ का रैपिड रेल कनेक्ट होगा, जो करीब 450 वर्ग किमी. क्षेत्र को जोड़ेगा.

    मेरठ इकलौता शहर, जहां मेट्रो और रैपिड दोनों- मेरठ देश का पहला शहर होगा, जहां हाईस्पीड रैपिड रेल और मेट्रो दोनों की कनेक्टिविटी होगी. प्रदेश में कानपुर, गोरखपुर में मेट्रो का काम चल रहा है. आगरा का प्रोजेक्ट स्वीकृत हो गया है. कानपुर में अगले छह माह में पहले चरण चरण का मेट्रो चालू होने का दावा है.

    परफेक्ट है रैपिड का काम, 2023 में होगा सफर- केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय व चेयरमैन एनसीआरटीसी सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने बताया, मैंने दिल्ली से मेरठ तक करीब सवा दो साल से चल रहे रैपिड रेल कॉरीडोर का मुआयना किया है. परफेक्ट काम हो रहा है. आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर 2023 में ही दिल्ली और मेरठ के लोगों को रैपिड का तोहफा मिल जाएगा

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here