नेहा कक्कर को इंडियन में आइडल में हराने वाले सिंगर का निधन कम उम्र में ही हो गया था, एक महीने की एक बेटी भी थी

    0
    630

    सिंगिंग टीवी रियलिटी शो इंडियन आइडल सीजन 12 काफी दिनों से सुर्खियों में बना हुआ है. इस शो कई ऐसे कंटेस्टटेंट आये है जिन्होंने अपनी आवाज़ से लोगो का दिल जीत लिया. पुरे भारत से लोग इन पसंद कर रहे है. लेकिन आज हम आपको इस शो के एक ऐसे कंटेस्टेंट के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने इस शो का दूसरा सीजन जीतकर खलबली मचा दी थी. उन्होने नेहा कक्कड़ को हराकर इंडियन आइडल का खिताब जीता था. हांलाकि इंडियन आइडल जीतने के बाद भी संदीप बॉलीवुड में तो कुछ खास पहचान नहीं बना पाए थे. वो स्टेज शो किया करते थे लेकिन साल 2013 में एक चौंकाने वाली खबर आई कि संदीप आचार्या नहीं रहें.

    राजस्थान के बीकानेर में रहने वाले संदीप ने अपनी आवाज से सब पर जादू कर दिया था. जब वे गाते थे तो समां बांध देते थे. जजेस के साथ-साथ उन्हें लोगों ने भी खूब पसंद किया. संदीप बचपन से ही गाने का शौक रखते थे. उनके घरवालों को भी उनके टैलेंट के बारे में नहीं पता था. एक बार संदीप ने स्कूल के कॉम्पिटिशन में भाग लिया. इसमें संदीप रनर अप रहे. यहीं से पहचान पाकर वे कई जगह परफॉर्मेंस देने लगे.

    इसके बाद उन्होनें साल 2006 में इंडियन आइडल मेें भाग लिया. इसी सीजन में नेहा कक्कड़ भी कंटेस्टेंट के तौर पर नजर आई थीं. हालांकि नेहा तीसरे ही राउंड में शो से बाहर हो गई थीं. वहीं संदीप इस सीजन के आखिर तक पहुंचे और फिर उन्होंने इंडियन आइडल का खिताब जीत लिया था. जिस वक्त संदीप ने ये खिताब जीता था उस समय उनकी उम्र सिर्फ 22 साल थी. फिनाले में सोनू निगम, फराह खान, अनु मलिक और काजोल ने उन्हें इंडियन आइडल विनर की ट्रॉफी सौंपी थी.

    इंडियन आइडल 2′ जीतने के बाद संदीप आचार्य की जिंदगी ही बदल गई थी.  वो उस समय के सबसे मंहगे सिंगर में से एक बन गए थे. वह एक शो के लिए ढाई से तीन लाख रुपये ले रहे थे और सालभर में वह 60 से 65 शोज कर रहे थे. उन्होंने विदेश में भी परफॉर्म किया. वह इंग्लैंड, अमेरिका, दुबई, अफ्रीका, इंडोनेशिया और नेपाल जैसे देशों में परफॉर्म कर चुके थे.

    वही संदीप आचार्य ने 2 सोलो एल्बम भी निकाले थे-‘मेरे साथ सारा जहां’ और ‘वो पहली बार’. इसके अलावा उन्होंने सोनी टीवी पर ‘कैसा ये प्यार है’ में ऐक्टिंग भी की थी. हालांकि, साल 2013 में एक भयंकर बीमारी ने उनकी जिंदगी छीन ली और  29 साल की उम्र में संदीप जैसे होनहार कलाकार ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

    दरअसल संदीप जॉन्डिस (पीलिया) का शिकार हो गए. गुरुग्राम के एक अस्पताल में करीब 15 दिनों तक उनका इलाज चलता रहा. लेकिन अफसोस की संदीप इस बीमारी से जिंदगी की जंग हार गए और 15 दिसंबर 2013 को अस्पताल में उनका निधन हो गया.

    संदीप आचार्य की शादी साल 2012 में हुई थी,उनकी मौत से 20 दिन पहले ही पत्नी नम्रता ने एक प्यारी बेटी को जन्म दिया था. संदीप के निधन से उनके परिवार पर गमों पर पहाड़ टूट पड़ा था. उनके निधन को 8 साल बीत चुके हैं लेकिन फैंस और परिवार वाले संदीप को बहुत याद करते हैं.

    यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइये. अगर आपके पास कोई सवाल और सुझाव है तो आप हमें ईमेल के जरिये संपर्क कर सकते है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here