ऑनलाइन शुरू करें पेट्रोल डीज़ल का कारोबार, साल भर में करोड़ो के मालिक बन सकते है

    0
    20148

    पेट्रोल-डीजल की ऑनलाइन डिलीवरी का कारोबार शुरू करना काफी जोखिम भरा है। साल 2016 तक देश में पेट्रोल डिलीवरी की परमिशन नहीं थी, इसके बाद सरकार ने ईंधन की ऑनलाइन डिलीवरी की इजाजत दे दी है।

    ऑनलाइन होगी बुकिंग- अगर आप भी अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो आप पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी के लिए ऑनलाइन बुकिंग ले सकते हैं। आप डोर-टू-डोर फ्यूल बेचने का कारोबार कर अच्छी कमाई कर सकते हैं। सबसे पहले आपको इसके लिए एक एप या वेबसाइट डेवलप करना पड़ेगा। ऐप पर ग्राहक ऑनलाइन या मैसेज के जरिए ऑर्डर कर सकते हैं।

    पेट्रोल की घर पर डिलीवरी- इन दिनों मोबाइल, लैपटॉप, गारमेंट और इलेक्ट्रॉनिक्स के साथ-साथ तकरीबन हर तरह के प्रोडक्ट की होम डिलीवरी की जाती है। आप ई-कॉमर्स वेबसाइट या ऐप से शॉपिंग करते हैं और कुछ ही घंटों के अंदर आपके घर पर सामान की डिलीवरी हो जाती है। पिछले कुछ समय से देश में ग्रॉसरी और फल सब्जियों की भी होम डिलीवरी तुरंत की जा रही है। इसके साथ ही मीटी-फिश, चिकन जैसी चीजें भी घर पर डिलीवर कराई जा रही है।

    बढ़ रहा है ट्रेंड- दो पहिया वाहन पर चलने वाले लोग कई बार इस तरह की परेशानी का सामना करना करते हैं कि उनका पेट्रोल अचानक खत्म हो गया है। अगर आप किसी सुनसान रास्ते पर हैं और वहां आस पास कोई पेट्रोल पंप नहीं है तो ऐसे मुश्किल वक्त में पेट्रोल की होम डिलीवरी करने वाले ऐप से आपको काफी मदद मिल सकती है। इसके साथ ही बहुत से लोग पेट्रोल पंप पर जाकर लाइन लगाना नहीं चाहते, वह भी अपने घर पर कार या अन्य वाहन के लिए पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी करवाते हैं।

    तेल कंपनियां देंगी इजाजत- अगर आप भी पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी का कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको पहले ऑयल कंपनियों से कांटेक्ट करना होगा। ऑयल कंपनियां आपके प्रोजेक्ट की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट मांगती हैं। अगर आपके डीपीआर कंपनियों को पसंद आए तो आपको पेट्रोल-डीजल की होम डिलीवरी करने की इजाजत मिल जाती है। इसके लिए हालांकि न्यूनतम मात्रा तय है, कोई भी ग्राहक उस मात्रा से कम पेट्रोल-डीजल नहीं मंगा सकता।

    नोएडा में है पेपफ्यूल- नोएडा में एक ईंधन डिलीवरी स्टार्टअप पेप फ्यूल ने कुछ दिनों पहले से कामकाज शुरू किया है। स्टार्टअप के फाउंडर टिकेन्द्र ने बताया कि इस पर काफी रिसर्च करने की जरूरत पड़ी। घर-घर जाकर लोगों से बात की और ऑनलाइन फीडबैक भी लिया। लोगों की प्रतिक्रिया में पता चला कि हर दूसरा व्यक्ति पेट्रोल-डीजल ही होम डिलीवरी के लिए ऑनलाइन ऐप चाहता था।

    कार में खत्म हुआ पेट्रोल- नोएडा की पेट्रोल-डीजल डिलीवरी स्टार्टअप पेप फ्यूल का कारोबार 100 करोड़ रुपये के पार चला गया है। कंपनी के संस्थापक एक बार कार में पेट्रोल खत्म होने के बाद पेट्रोल पंप ढूंढ रहे थे। करीब 10 किलोमीटर के दायरे में उन्हें कोई पेट्रोल पंप नहीं मिला और कार को धक्का मार कर ले जाना पड़ा। इसके बाद उन्होंने पेट्रोल डीजल की होम डिलीवरी से संबंधित कारोबार करने के बारे में सोचा।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here