जिस घर के लोगों ने घर में पनाह दी, उसी घर के मालिक को लेकर फरार हुई लड़की

    0
    1941

    एक लड़की को मदद की जरूरत थी. मजबूरी में उसे अपना घर छोड़ना पड़ा था. जिसके बाद दूसरे देश के एक परिवार ने उसे अपने घर में रहने की इजाजत दे दी. 10 दिनों में ही घर के शादीशुदा शख्स से लड़की को प्यार हो गया. जिसके बाद शख्स ने 10 सालों के रिश्ते और दो बच्चों को छोड़ दिया और लड़की के साथ रहने लगा.

    22 साल की सोफिया करकादिम को ब्रिटेन के ब्रैडफोर्ड शहर में टोनी गार्नेट ने शरण दी. टोनी, पत्नी लोर्ना और बच्चों के साथ रहते थे. लेकिन इसके 10 दिनों बाद ही 29 साल के सेक्योरिटी गार्ड टोनी ने ऐलान कर दिया कि वह सोफिया से प्यार करते हैं. फिर वे दोनों उस घर को छोड़ टोनी के मां-बाप के घर में रहने लगे.

    दोस्तों का कहना है कि लोर्ना इस फैसले से बिल्कुल टूट चुकी हैं. बता दें कि यूक्रेन में चल रहे युद्ध की वजह से सोफिया को अपना घर और अपना देश छोड़ना पड़ा था.

    उनका मानना है कि वह अब टोनी के साथ ब्रिटेन में सुरक्षित महसूस करती हैं. उन्होंने कहा- सबकुछ बहुत जल्दबाजी में हो गया लेकिन यह हमारी लव स्टोरी है. मैं जानती हूं कि लोग मेरे बारे में बुरा-भला कहेंगे लेकिन ऐसा बस हो गया.

    सोफिया ने द सन से बातचीत में कहा- मैं देख सकती थी कि टोनी पहले कितना नाखुश था. टोनी ने बताया है कि अब हमारी जोड़ी फ्यूचर के बारे में सोच रही है. उन्होंने कहा- मैं जानता हूं कि लोग यही सोचेंगे कि सबकुछ बहुत जल्दी में हो गया, लेकिन सोफिया और मैं जानता हूं कि सबकुछ सही है.

    टोनी ने गवर्नमेंट रिफ्यूजी होमिंग स्कीम साइन किया था और वह रिफ्यूजी को घर में रखना चाहता था. लेकिन उन्होंने गौर किया यह प्रक्रिया बहुत स्लो है, जिसके बाद उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए लोगों की मदद की ठानी.

    NHS ड्राप-इन सेंटर में काम करने वाले टोनी की दोस्ती फेसबुक के जरिए सोफिया से हुई. उन्होंने ऑफर दिया कि वह सोफिया के ब्रिटेन स्पॉन्सरर बन सकते हैं. वह 4 मई को मैनचेस्टर पहुंचीं और फिर टोनी और लोर्ना के साथ वेस्ट योर्कस में रहने लगीं.

    सोफिया के घर में आते ही टेंशन शुरू हो गई. टोनी ने घर में जगह बनाने के लिए 6 साल की बेटी को अपने कमरे से हटाकर दूसरी बेटी के कमरे में शिफ्ट कर दिया. यह सब लोर्ना के मना करने के बावजूद किया गया.

    बाद में लोर्ना ने सोफिया को घर छोड़कर जाने के लिए कहा लेकिन तब तक टोनी और सोफिया पास आ चुके थे. टोनी ने कहा- लोर्ना कभी नहीं चाहती थी कि हमारे घर में रिफ्यूजी आए क्योंकि इसकी वजह से बेटियों को एक रूम में शिफ्ट होना पड़ता. लेकिन हम दोनों को पास आते देख उससे रहा नहीं गया.

    टोनी ने आगे बताया- एक दिन लोर्ना ने सोफिया को बहुत डांटा, इसकी वजह से वह रोने लगीं. उन्होंने कहा कि सोफिया इस घर में अब और नहीं रह सकती हैं. जिसके बाद मेरे अंदर कुछ हलचल हुई. मैंने लोर्ना को कह दिया कि वह जाएगी, तो मैं भी जाऊंगा. मैं सोफिया को नहीं छोड़ सकता हूं.

    टोनी ने कहा- हम दोनों ने बैग पैक किया और मैं सोफिया के साथ अपने मां-बाप के घर में शिफ्ट हो गया. मैं लोर्ना के लिए बुरा फील कर रहा हूं, इसमें उसकी कोई गलती नहीं है, और ऐसा भी नहीं है कि उसने कुछ गलत किया हो.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here