रोडवेज यात्रियों का अब इंतज़ार हुआ ख़त्म, कल से फिर शुरू पहले की तरह चलेगी बसेस

0
160

कांस्टेबल परीक्षा के चलते पिछले चार-पांच दिनों से आम यात्रियों से दूर रही रोडवेज की सेवाएं 17 मई से फिर मिल पाएंगी। चार दिन चली परीक्षा का सोमवार को आखिरी दिन है। रोडवेज को उम्मीद है कि परीक्षार्थियों की भीड़ अब ज्यादा नहीं है। ऐसे में 17 मई से नियमित शैड्यूल चलाने की योजना बनाई गई है।

यात्रियों को गत 12 मई से रोडवेज की सेवाएं नहीं मिल पा रही है। मुख्यालय निर्देशानुसार सभी शैड्यूल निरस्त करते हुए रिजर्वेशन भी कैंसिंल कर दिए गए थे। अब उम्मीद है कि अभ्यर्थी परीक्षा के आखिरी दिनों में कम आ रहे हैं। इसके चलते शैड्यूल को फिर से चलाया जा सकता है।

बीकानेर-जोधपुर के लिए चलाई बसें- बाड़मेर डीपो से रविवार को शैड्यूल के अनुसार जोधपुर व बीकानेर के लिए बसें चलाई गई। इसमें अभ्यर्थियों के साथ कुछ यात्री भी शामिल थे। अत्यंत जरूरी कार्य से जाने वालों को बीकानेर और जोधपुर मार्ग पर रोडवेज की सुविधा मिल गई। हालांकि अभी शैड्यूल बंद है, लेकिन अभ्यर्थियों में कमी आने के चलते वाहन उपलब्ध होने पर सामान्य यात्रियों के लिए रोडवेज का संचालन किया गया।

सामान्य यात्रियों के लिए 4-5 दिन पड़े भारी- परीक्षा के कारण रोडवेज नहीं मिलने और ट्रेनों में भारी भीड़ के चलते यात्री काफी परेशान हुए। रेल में भी लम्बी वेंटिंग के कारण यात्रियों को सीटें नहीं मिली। इस बीच निजी वाहनों की यात्रियों ने शरण ली। लेकिन कुछ यात्रियों की शिकायत भी आई कि मनमर्जी का किराया वसूला गया। ऐसी स्थिति में पिछले 4-5 दिन रोडवेज की सुविधा नहीं मिलने से हजारों यात्रियों ने परेशानी झेली है।

53 बसें गई बाड़मेर से- डीपो से रविवार को कुल 53 बसों का संचालन किया गया। इसमें बाहर से अभ्यर्थियों को लेकर यहां आई बसें भी शामिल रही। परीक्षा के तीसरे दिन अभ्यर्थियों की संख्या कुछ कमी रही। बस स्टैंड पर भीड़-भाड़ ज्यादा नजर नहीं आई।

प्लान बना रहे हैं- परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आने से वाहन उपलब्ध होने पर रविवार को जोधपुर व बीकानेर के लिए शैड्यूल अनुसार बसों का संचालन किया गया। वाहन उपलब्ध होने पर इस क्रम को बढ़ाने के प्रयास है। वहीं 17 मई से सभी शैड्यूल नियमित रूप से चलाने का प्लान है।
-उमेश नागर, मुख्य प्रबंधक बाड़मेर आगार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here