ट्रैन की टिकट पर 5 डिजिट का यह नंबर होता है बड़े काम का, छुपी हुई है कई अहम जानकारी

    0
    191

    अगर आप भी अक्‍सर  ट्रेन से आना-जाना करते हैं तो यह खबर आपके काम की है. शायद ही आपने गौर क‍िया हो क‍ि हर ट‍िकट पर 5 ड‍िज‍िट का नंबर ल‍िखा होता है. इस ड‍िज‍िट में आपकी यात्रा से जुड़ी पूरी जानकारी होती है. यह नंबर आपको कई बड़ी जान‍कार‍ियां भी देता है. इस नंबर से जानकारी म‍िलती है क‍ि आप कहां जा रहे हैं या कहां से आ रहे हैं?

    सफर के बारे में देगा पूरी जानकारी- यह नंबर आपकी ट्रेन की स्थिति से लेकर कैटेगरी तक सब कुछ बताता है. आइए जानते हैं इन 5 ड‍िजि‍ट से आपके सफर के बारे में पूरी जानकारी कैसे की जा सकती है? आपको बता दें हर ट्रेन का विशेष नंबर होता है, यही उसकी पहचान होता है. 5 अंकों के इस नंबर में 0 से 9 तक के डिजिट होते हैं. आइए जानते हैं इन 5 डिजिट के नंबर के बारे में.

    किस डिजिट का क्या मतलब?- 5 डिजिट में 0 से 9 तक की संख्‍या होती हैं. हर संख्‍या का अलग मतलब होता है. शून्‍य (0) का मतलब है कि यह स्पेशल ट्रेन है. वो समर स्पेशल, हॉलीडे स्पेशल या अन्य कोई स्पेशल ट्रेन हो सकती है. आपने होली / द‍िवाली के मौके पर नोट‍िस क‍िया होगा क‍ि स्‍पेशल ट्रेनों के नंबर 0 से ही शुरू होते हैं.

    1 से 4 तक की डिजिट का मतलब- पहली डिजिट 1 का मतलब है क‍ि यह ट्रेन लंबी दूरी तक जाती है. यह ट्रेन राजधानी, शताब्दी, जन साधारण, संपर्क क्रांति, गरीब रथ और दूरंतो में से कोई एक होगी. पहला डिजिट 2 होने का भी यही तात्‍पर्य है क‍ि ट्रेन लंबी दूरी की है. 1 और 2 दोनों डिजिट एक ही श्रेणी में आती हैं. पहला नंबर 3 होने का मतलब है क‍ि यह ट्रेन कोलकाता सब अरबन ट्रेन है. डिजिट 4 है तो ट्रेन नई दिल्ली, चेन्नई, सिकंदराबाद और अन्य मेट्रो सिटी की सब अरबन ट्रेन है.

    5 से 9 तक की डिजिट का मतलब- पहली डिजिट 5 होने का मतलब ट्रेन सवारी गाड़ी है. अगर पहली डिजिट 6 है तो यह मेमू ट्रेन है. वहीं पहली डिजिट 7 होने पर डेमू ट्रेन है. पहली डिजिट 8 होने पर यह आरक्षित ट्रेन है. फर्स्‍ट डिजिट 9 है तो यह मुंबई की सब अरबन ट्रेन है.

    दूसरी और उसके बाद की डिजिट- 5 ड‍िज‍िट की इस संख्‍या में दूसरा और उसके बाद का डिजिट पहली डिजिट के अनुरूप होता है. यद‍ि किसी ट्रेन के पहले लेटर 0, 1 और 2 से शुरू होते हैं तो बाकी के चार लेटर रेलवे जोन और डिजिवन को दर्शाते हैं. यह 2011 4-डिजिट स्कीम के अनुसार होता है. आइए जानते हैं इनके नंबर.

    0- कोंकण रेलवे
    1- सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे
    2- सुपरफास्ट, शताब्दी, जन शताब्दी को दिखाता है. इन ट्रेन के अगले डिजिट जोन कोड को दर्शाते हैं.
    3- ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे
    4- नॉर्थ रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे
    5- नेशनल ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे
    6- साउथर्न रेलवे और साउथर्न वेस्टर्न रेलवे
    7- साउथर्न सेंट्रल रेलवे और साउथर्न वेस्टर्न रेलवे
    8- साउथर्न ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट कोस्टल रेलवे
    9- वेस्टर्न रेलवे, नार्थ वेस्टर्न रेलवे और वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे

    इसके अलावा आपको बता दें कि जिन ट्रेन की पहली डिजिट 5,6,7 में से एक होती है, उनकी दूसरी डिजिट जोन को दर्शाती है. बाकी डिजिट डिविजन कोड को बताती हैं.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here