उर्फी जावेद को इस्लाम पर नहीं है विश्वास, आजकल पढ़ रही है भगवत गीता, कहा मुस्लिम लड़के शादी नहीं करना चाहती

0
571

बिग बॉस ओटीटी से पहले हफ्ते में ही बाहर होने वाली उर्फी जावेद आज एक फैशन डीवा बन चुकी हैं। उर्फी के अतरंगी और बोल्ड आउटफिट्स सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर छाए रहते हैं। उर्फी की बढ़ती हुई पॉपुलैरिटी का पूरा क्रेडिट उनके कपड़ों और ड्रेसिंग सेंस को ही जाता है। अब IndiaToday।in को दिए इंटरव्यू में उर्फी ने अपनी ट्रोलिंग, मैरिज प्लान्स और लव लाइफ को लेकर कई दिलचस्प बातें बताईं।

इंटरनेट सेंसेशन उर्फी जावेद एक कंजरवेटिव मुस्लिम फैमिली से ताल्लुक रखती हैं। लेकिन फिर भी वो मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करना चाहती हैं। उर्फी ने यह भी बताया कि वो इन दिनों भगवद गीता पढ़ रही हैं।

उर्फी ने इंटरव्यू में कहा- मैं कभी भी मुस्लिम लड़के से शादी नहीं करूंगी। मैं इस्लाम में यकीन नहीं रखती हूं और मैं कोई भी धर्म फॉलो नहीं करती हूं। इसलिए मुझे परवाह नहीं है कि मैं किस से प्यार करती हूं। हमें उसी से शादी करनी चाहिए, जो हमें पसंद हो।

उर्फी ने कहा कि बोल्ड लुक्स फ्लॉन्ट करने पर उन्हें इसलिए ट्रोल किया जाता है, क्योंकि इंडस्ट्री में उनका कोई गॉडफादर नहीं है। खासकर इसलिए भी ट्रोलिंग होती है, क्योंकि वो मुस्लिम हैं। उर्फी ने कहा- मैं एक मुस्लिम लड़की हूं। इसलिए ज्यादातर हेट कमेंट्स मुझे मुस्लिम लोगों के ही मिलते हैं। उनका कहना है कि मैं इस्लाम की छवि खराब कर रही हूं।

उर्फी ने कहा- मुस्लिम लड़के मुझसे नफरत करते हैं, क्योंकि वो चाहते हैं कि उनकी महिलाएं एक निश्चित तरीके से ही बिहेव करें। वो अपने समुदाय की हर महिला को कंट्रोल करना चाहते हैं। इस वजह से मैं इस्लाम में विश्वास नहीं रखती हूं। वो मुझे इसलिए ट्रोल करते हैं, क्योंकि मैं उस तरह से बिहेव नहीं करती हूं, जिस तरह वो मुझसे अपने धर्म के अनुसार उम्मीद रखते हैं।

उर्फी ने आगे कहा- मेरे पिता बहुत ज्यादा कंजरवेटिव थे। जब मैं 17 साल की थी, तब उन्होंने मेरी मां और हम सबको छोड़ दिया था। मेरी मां बहुत धार्मिक महिला हैं, लेकिन उन्होंने कभी भी हम पर अपना धर्म नहीं थोपा।

उर्फी ने आगे कहा- मेरे भाई-बहन इस्लाम धर्म फॉलो करते हैं, लेकिन मैं नहीं करती। इसके लिए उन्होंने कभी मुझे फोर्स नहीं किया और ऐसा ही होना चाहिए। आप अपनी पत्नी और बच्चों पर अपना धर्म थोप नहीं सकते। हर चीज दिल से आनी चाहिए, नहीं तो न आप और न ही अल्लाह खुश होंगे।

उर्फी ने आगे कहा- मैं अभी भगवद गीता पढ़ रहा हूं। मैं धर्म (हिंदू धर्म) के बारे में और जानना चाहती हूं। इस बारे में आप क्या सोचते हो अपने विचार हमें बताना न भूले। अगर आपके पास हमारे लिए कोई सवाल और सुझाव है तो आप हमें ईमेल के जरिये संपर्क कर सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here