नोट के किनारे पर क्यों बनी होती है यह तिरछी लकीरें, जानकर रह जाओगे हैरान

    0
    481

    दुनिया के हर देश में चीजों की खरीद-बिक्री के लिए करेंसी का उपयोग किया जाता है. कहीं डॉलर, कहीं यूरो और कहीं रुपए का इस्तेमाल किया जाता है. भारत में रुपए का प्रयोग करेंसी के तौर पर किया जाता है. हम और आप लगभग हर दिन ही करेंसी का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन क्या आपने कभी इन नोटों को गौर से देखा है? इन नोटों के किनारे पर कई तरह की तिरछी लकीरें खींची होती है. लेकिन हम सिर्फ करेंसी की वैल्यू देखकर उसके बदले में सामान खरीद लेते हैं. क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की, आखिर इन लकीरों का करेंसी में मतलब क्या है?

    भारत में कई वैल्यू के नोट छपते हैं. इसमें पांच से लेकर 2 हजार तक की करेंसी है. हम इनका इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन इनके बारे में ज्यादा कुछ जानते नहीं है. अगर आपने कभी भारतीय नोटों को गौर से देखा होगा, तो पाएंगे कि इसके किनारे पर कई लाइन खींची जाती है. ये नोट की वैल्यू के हिसाब से घटती और बढ़ती है. शायद ही कभी किसी का ध्यान इनपर जाता है और अगर जाता है तो शायद ही उन्हें इसका मतलब पता होगा. आज हम आपको इन्हीं लकीरों का मतलब बताने जा रहे हैं.

    बेहद ख़ास हैं ये लकीरें- नोटों के किनारे पर छपी ये लाइन्स असल में ब्लीड मार्क्स कहलाते हैं. ये नोटों की कीमत के हिसाब से घटती और बढ़ती है. असल में ये लकीरें ख़ास तौर पर दृष्टिहीन लोगों के लिए बनाई जाती है. इनकी मदद से जो लोग देख नहीं सकते, वो नोटों की वैल्यू समझ लेते हैं. ताकि कोई उन्हें बेवकूफ ना बना पाए. भारतीय करेंसी में सौ से लेकर दो हजार तक की करेंसी तक पर ये लकीरें मौजूद होती हैं. इनपर उंगलियां फेरकर नेत्रहीन लोग नोट की वैल्यू पता लगा लेते हैं.

    हर नोट पर अलग लकीर- भारतीय करेंसी बनाने वालों ने नेत्रहीन लोगों की सुविधा के लिए ये लकीरें बनवाई. हर नोट पर उसकी वैल्यू के हिसाब से लकीरें होती है. जैसे कि अगर आप सौ का नोट उठा लें, तो पाएंगे कि इसके दोनों तरफ चार लकीरें होती है. दो सौ के नोट में भी चार लकीरें होती हैं लेकिन उसके साथ दो ज़ीरो भी लगे होते हैं. वहीं पांच सौ के नोट पर दोनों तरह पांच लकीरें और दो हजार के नोट पर सात लकीरें होती हैं. ये सारी लाइन्स उभरी हुई होती हैं. ताकि नेत्रहीन इन्हें फील कर नोट की वैल्यू समझ सके.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here